101 Best Emotional Shayari in Hindi

101 Best Emotional Shayari in Hindi:- emotional shayari in hindi for boyfriend, sad emotional shayari in hindi on khamoshi, emotional shayari image, emotional shayari download, emotional shayari on life in english, emotional shayari for students, emotional shayari for wife in hindi

Emotional Shayari In Hindi

Zehar Ka Bhi Ajeeb Hisaab Hai Marne Ke Liye Zra Saa,
Mgar Zinda Rahne Ke Liye Bhut Sara Pina Padta Hai.

ज़हर का भी अजीब हिसाब है मरने के लिए ज़रा सा,
मगर जिंदा रहने के लिए बहुत सारा पीना पड़ता है.

Hindi Emotional Shayari

Chor Diya Bewzah Sabko Pareshan Karna,
Jab Koi Apna Hi Nhi Samajhta To Use Apni Yaad Kyu Dilana.

चोर दिया बेवज़ह सबको परेशां करना,
जब कोई अपना ही नहीं समझता तो उसे अपनी याद क्यों दिलाना.

Emotional Shayari In Hindi For Boyfriend

Meri Tanhaiyan Gawah Hai Es Baat Ki,
Ab Tak Teri Jgah Koi Nhi Le Paya.

मेरी तन्हाईया गवाह है इस बात की,
अब तक तेरी जगह कोई नहीं ले पाया.

mujhe yakeen hai


Mujhe Yakeen Hai Ek Din Tum Laut Aaoge,
Phir Chahe Wo Din Meri Maut Ka Hi Kyu Na Ho.


मुझे यकीन है एक दिन तुम लौट आओगे,
फिर चाहे वो दिन मेरी मौत का ही क्यों न हो.

Sad Emotional Shayari In Hindi

Jab Hum Kisi Ko Dil Se Yaad Kar Rhe Hote Hai,
Toh Uski Photo Zoom Karke Dekh Lete Hai.

जब हम किसी को दिल से याद कर रहे होते है,
तोह उसकी फोटो ज़ूम करके देख लेते है.

Love Emotional Shayari

Sayad Koi To Kar Raha Hai Meri Kami Puri,
Tabhi To Use Meri Yaad Nhi Aati.

शायद कोई तो कर रहा है मेरी कमी पूरी,
तभी तो उसे मेरी याद नही आती.

Emotional Shayari Hindi

Sikatat Tujhse Nhi Tere Waqt Se Hai,
Jo Tujhe Kabhi Mila Hi Nhi Mere Liye.

siktat tujhse....Emotional Shayari in Hindi
siktat tujhse….Emotional Shayari in Hindi

सिकतात तुझसे नही तेरे वक़्त से है,
जो तुझे कभी मिला ही नहीं मेरे लिए.

Emotional Shayari For Wife

Agar Mohabbat Sacchi Ho To,
Aakhri Sans Tak Nibha Sakti Hoon.

अगर मोहब्बत सच्ची हो तो,
आखरी सांस तक निभा सकती हूँ.

Emotional Shayari For Students

Wo Relationship Zyada Dino Tak Nhi Chalti,
Jin Main Understanding Naa Ho.

वो रिलेशनशिप ज़्यादा दिनों तक नहीं चलती,
जिन मैं अंडरस्टैंडिंग ना हो.

Emotional Shayari Hindi Me

Ishq Mein Aksar Aesa Hota Hai,
Jo Sabse Zyada Pyaar Karta Hai Wahi Rota Hai.

इश्क़ में अक्सर ऐसा होता है,
जो सबसे ज़्यादा प्यार करता है वही रोता है.

Manzil teri woh nahi jo logon ne tere liye chuni hai,
Apni manzil to tune khud khwaabon mein buni hai.

Kya huya agar mushkil hain teri raahein,
Har pal ko gale laga khol kar apni bahein.

Hoke riha apni soch ki bandishon se,
Chal is kaarwa par apne dil ki khwaahisho se.

Bikharne lage kabhi agar tere iraade,
Yaad kar lena khud se kiye huye sabhi vaade.

Maana teri manzil mein abhi kuch faasla hai,
Magar Tanha nahi tu, saath tere buland hausla hai.

Parinde bhi khud safar tay karte hain aasmano ka,
Sikhaya nahi jata unhe tareeka udaano ka.

Manzil mil jaegi tujhe bhi ek din, der se hi sahi,
Gumraah to woh hain jo ghar se nikle hi nahi.

तू नहीं तो ये नज़ारा भी बुरा लगता है..
चाँद के पास सितारा भी बुरा लगता है..
ला के जिस रोज़ से छोड़ा है तुने भवँर में मुझको..
मुझको दरिया का किनारा भी बुरा लगता है.

इस दिल को किसी की आहट की आस रहती है,
निगाह को किसी सूरत की प्यास रहती है,
तेरे बिना जिन्दगी में कोई कमी तो नही,
फिर भी तेरे बिना जिन्दगी उदास रहती है॥

कभी यादें कभी आँखों में पानी भेज देता है,
वो खुद आता नहीं अपनी निशानी भेज देता है।

इस दौर में अहसास-ए-वफ़ा ढूँढने वालो,
सेहरा में कहाँ मिलते हैं दीवार के साए।

कुछ रिश्तों को कभी भी नाम ना देना तुम,
इन्हें चलने दो ऐसे ही इल्जाम ना देना तुम,
ऐसे ही रहने दो तुम तिश्नग़ी हर लफ़्ज़ में,
कि अल्फ़ाज़ों को मेरे अंज़ाम ना देना तुम।

तिश्नगी जम गई पत्थर की तरह होंठों पर,
डूब कर भी तेरे दरिया से मैं प्यासा निकला।

अब आयें या न आयें इधर… पूछते चलो,
क्या चाहती है उनकी नजर पूछते चलो,
हमसे अगर है तर्क-ए-ताल्लुक तो क्या हुआ,
यारो कोई तो उनकी खबर पूछते चलो।

खोकर हमें फिर पा न सकोगे,
जहाँ हम होंगे वह आ न सकोगे,
हरपल हमें महसूस तो करोगे लेकिन
पर हम होंगे वहां जहाँ से
हमें फिर बुला न सकोगे.

मौसम को मौसम की बहारों ने लूटा,
हमें तो कश्ती ने नहीं किनारों ने लूटा,
आप तो डर गए हमारी एक ही अदा से,
हमें आपकी कसम देकर हजारों ने लूटा।

ज़िंदा रहे तो क्या है जो मर जाएं हम तो क्या,
दुनिया से खामोशी से गुजर जाएं हम तो क्या,
हस्ती ही अपनी क्या है इस ज़माने के सामने,
एक ख्वाब हैं जहान में बिखर जायें हम तो क्या।

हमने भी कभी चाहा था एक ऐसे शख्स को,
जो था आइने से नाज़ुक मगर था संगदिल।

गजब का प्यार था… उसकी उदास आँखो में,
महसूस तक ना होने दिया कि वो छोड़ने वाला है।

Leave a Comment